परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने एचएसआरपी पंजीकरण और कलर कोडेड स्टिकर पर की समीक्षा बैठक

Color coded stricker meeting

सेवाओं की होम डिलीवरी और प्रक्रिया के हर चरण में एसएमएस सुविधा  1 नवंबर से


रिपोर्ट: महेश मौर्य, दिल्ली

नई दिल्ली, 28 अक्टूबर, 2020: दिल्ली के परिवहन मंत्री श्री कैलाश गहलोत ने मौजूदा वाहनों पर उच्च सुरक्षा पंजीकरण प्लेट (एचएसआरपी) और कलर कोडेड स्टिकर लगाने हेतु ओईएम और डीलरों द्वारा की गई तैयारियों की समीक्षा के लिए एक बैठक बुलाई। बैठक में परिवहन विभाग, राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के वरिष्ठ अधिकारियों सहित अन्य हितधारकों जैसे मूल उपकरण निर्माता (ओईएम), सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) और उच्च-सुरक्षा पंजीकरण प्लेट (एचएसआरपी) निर्माताओं ने भाग लिया।

whatsapp banner 1

बैठक के दौरान, माननीय  मंत्री ने अधिकारियों को सभी वाहनों पर सुगम रूप से एचएसआरपी और कलर कोडेड स्टिकर सुनिश्चित करने का निर्देश दिया जिससे आम जन को किसी कठिनाई का सामना न करना पड़े । 1 नवंबर से एचएसआरपी और कलर कोडेड स्टिकर की बुकिंग के लिए  SIAM द्वारा एकल वेबसाइट यूआरएल उपलब्ध किया जायेगा। इस वेबसाइट के लिए एनआईसी तकनीकी सहायता प्रदान करेगा। HSRP या Colour- Coded Sticker की बुकिंग के बाद, उपभोक्ताओं को एसएमएस के माध्यम से, प्रसंस्करण के प्रत्येक चरण का वास्तविक समय में अपडेट मिलेगा। कस्टमर्स को अपॉइंटमेंट की तारीख से कम से कम 2 दिन पहले सूचित कर दिया जाएगा ताकि उन्हे किसी प्रकार की पड़ेशानी का सामना न करना परे।  इस वेबसाइट द्वारा ग्राहक  HSRP  प्लेट की होम डिलीवरी के लिए भी आवेदन कर सकतें हैं ।

श्री गहलोत ने इससे पहले भी  SIAM और OEM के साथ एक बैठक बुलाई थी, जिसमें  HSRP पंजीकरण प्रक्रिया  में आने वाली  कठिनाइयों  पर चर्चा की गई थी। माननीय मंत्री ने उस बैठक में अधिकारीयों को जल्द से जल्द सभी समस्याओं के समाधान का निर्देश दिया था साथ ही उन्होने HSRP से सम्बंधित एनफोर्समेंट कार्यवाही अगले आदेश तक  रोकने का आदेश भी जारी किया था । परिवहन विभाग ने वेंडर्स और एनआईसी के साथ अनुवर्ती बैठक में एचएसआरपी और कलर कोडेड स्टिकर के लिए  सिंगल विंडो पोर्टल के प्रावधान की भी समीक्षा की थी।

परिवहन मंत्री द्वारा जारी एक आधिकारिक बयान में कहा गया ” हमने HSRP के वेंडर्स और डीलरों को यह सुनिश्चित करने के  सख्त निर्देश जारी किए हैं कि ग्राहको को  किसी भी प्रकार की देरी या असुविधा का सामना न करना पड़े । 2 सप्ताह के भीतर, हमने आउटलेट्स की संख्या बढ़ा कर 150 से 658 कर दिया है जिससे आम जनता आसानी से सुविधाओं का लाभ उठा सके। शिकायत निवारण तंत्र को भी मजबूत किया जा रहा है ताकि डीलरों द्वारा किये गए किसी भी चूक को नज़रअंदाज़  न किया जाए और  परिवहन विभाग द्वारा निगरानी सुनिश्चित की जा सके।“

यह भी पढ़ें : रेलवे द्वारा माल परिवहन को आकर्षित करने के लिए कुछ और माल प्रोत्साहन योजनाओं की शुरुआत

यह भी पढ़ें : दिल्ली में केवल ‘ग्रीन’ पटाखों का उत्पादन, बिक्री और उपयोग करने की अनुमति – गोपाल राय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!