airavatesvara temple

Tamil nadu airavatesvara temple: भगवान शिव का 800 साल पुराना यह मंदिर है काफी चमत्कारिक, सीढ़ियों से गूंजते हैं संगीत के सुर

Tamil nadu airavatesvara temple: मंदिर के एंट्री वाले द्वार पर एक पत्थर की सीढ़ी बनी हुई है, जिसके हर कदम पर अलग-अलग ध्वनि निकलती है

धर्म डेस्क, 29 जुलाईः Tamil nadu airavatesvara temple: भारतीय धर्म में हिंदी देवी-देवताओं का बड़ा स्थान होता हैं। देश में कई धार्मिक मंदिर है जिनकी अपनी अलग पहचान हैं। आज हम आपको ऐसे ही एक मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं। दरअसल तमिलनाडु में कुंभकोणम के पास दारासुरम में स्थित है ‘एरावतेश्वर मंदिर’। मंदिर यूनेस्को द्वारा वैश्विक धरोहर घोषित है।

यह हिंदू मंदिर है, जिसे दक्षिणी भारत में 12वीं सदी में बनाया गया था। ऐरावतेश्वर मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। भगवान शिव को यहां ऐरावतेश्वर के रूप में जाना जाता है। मान्यता है कि इस मंदिर में देवताओं के राजा इंद्र के सफेद हाथी एरावत द्वारा भगवान शिव की पूजा की गई थी।

क्या आपने यह पढ़ा…. iPhone 14 news: चीन ने दिया एप्पल को धोखा…! iPhone 14 खरीदने वालों पर गिरा दुःखों का पहाड़, पढ़ें…

Advertisement

द्रविड़ शैली में मंदिर

इस मंदिर को द्रविड़ शैली में भी बनाया गया था। प्राचीन मंदिर में आपको रथ की संरचना भी दिख जाएगी और वैदिक और पौराणिक देवता इंद्र, अग्नि, वरुण, वायु, ब्रह्मा, सूर्य, विष्णु, सप्तमत्रिक, दुर्गा, सरस्वती, लक्ष्मी, गंगा, यमुना के चित्र यहां मौजूद हैं।

सीढ़ियों से निकलता है संगीत

Advertisement

इस मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यहां की सीढ़ियां हैं। मंदिर के एंट्री वाले द्वार पर एक पत्थर की सीढ़ी बनी हुई है, जिसके हर कदम पर अलग-अलग ध्वनि निकलती है। इन सीढ़ियों के माध्यम से आप आप संगीत के सातों सुर सुन सकते है. आप सीढ़ियों पर चलेंगे तब भी आपको धुन सुनने को मिल जाएंगे।

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.