averie woodard 5d20kdvFCfA unsplash

Safar e jindagi: सफर ए जिन्दगी ऐसा क्यों है: रेणु तिवारी “इति”

Renu tiwari
रेणु तिवारी “इति”
पुणे महाराष्ट्र

सफर( Safar e jindagi)

Safar e jindagi: सफर ए जिन्दगी ऐसा क्यों है?
भीड़ में भी हर शख्स तन्हा क्यों है?
काफिले बदलते रहते है खुशियों की तलाश में,
पर वो सुकुन के दो पल भी नदारद क्यों है?
वक्त कट ही जाता इस तरह,फिर दिल की ये आरजू इतनी बेकाबू क्यों है?
जो साथ है उसकी कद्र नहीं,और जो किस्मत में नहीं उसकी तलब क्यों है?
दूर तक तकती है बेसब्र निगाहें,बरसो से खामोश लबों पर इतना शोर क्यों है?
आसान था ज़मी से जुड़ के ज़मी पर चलना, फिर आसमान में उड़ने की इतनी जिद क्यों है?
सफर ए जिन्दगी ऐसा क्यों है?

यह भी पढ़ें:- ICMR testing new guidelines: कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आने वालों की टेस्टिंग के लिए आईसीएमआर ने जारी किए नए दिशानिर्देश, इन लोगों को कराना होगा टेस्ट

Whatsapp Join Banner Eng
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.


Advertisement
Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.