Banner Priya Singh

Mother toungue Hindi: ‘अ’ से अनपढ़ ‘ज्ञ’ से ज्ञानी जो बना दे, ऐसी ज्ञानवर्धक मातृभाषा हमारी है हिंदी

!! हिंदी से हम और हमसे हमारी हिंदी !!

जन्म लिया हमने भारत में
मातृभाषा हमारी है हिंदी
वो पग-पग पे बाटेंगे हमें
पर हर रग में अपना रंग दिखला जाना है।

‘अ’ से अनपढ़ ‘ज्ञ’ से ज्ञानी जो बना दे
ऐसी ज्ञानवर्धक मातृभाषा हमारी है हिंदी
दृढ़ संकल्प करेंगे आज
जगत पटल पर हिंदी को सम्मान दिलाना है।

Advertisement

आदि जननी संस्कृत से संस्कार लेकर
प्राकृत,पाली अवहट्ट की रंग रूप है हिंदी
चाहे कर लो जितनी भी निंदा
जो सदैव हाथ थामती उस हिंदी को सारथी बनना है।

अखंड भारत की है कुंजी
एकता की अनूठी मिसाल है हिंदी
शब्द-शब्द इसका अनमोल
निज भाषा प्रेम को घर-घर अब पहुँचाना है।

सुगढ़, प्रभावशाली,अमृत सम
पूजनीय हमारी है हिंदी
सारी भाषाओं का है सिरमौर
राजभाषा से अब हिंदी को राष्ट्रभाषा हमें बनाना है।

Advertisement

यह भी पढ़ें:-Jammu-kashmir: सुरक्षाबलों ने नाकाम की आतंकी साजिश, बरामद किए छह चाइनीज ग्रेनेड

Whatsapp Join Banner Eng
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.