Candy

Eat candy and earn 61 lakh Rs: कैंडी खाइए ओर कमाइए लाखों रूपये, यह कंपनी दे रही शानदार ऑफर

Eat candy and earn 61 lakh Rs: कनाडाई कंपनी $100,000 कैनेडियन डॉलर (61.14 लाख रुपये) के वेतन के लिए एक मुख्य कैंडी अधिकारी को नियुक्त करना चाह रही

नई दिल्ली, 03 अगस्तः Eat candy and earn 61 lakh Rs: जब आप भी बच्चे होंगे तो कैंडी जरूर खाई होगी। हालांकि बड़े होने के बाद भी कई लोगों की कैंडी खाने की आदत नहीं छूटती। अगर आपसे कहा जाए कि कैंडी खाने के लिए आपको लाखों रुपये मिलेंगे तो आप क्या करेंगे? शायद ही कोई होगा जो इस शानदार ऑफर को ठुकरा देगा। दरअसल एक कंपनी जो कैंडी का उत्पादन करती है उसने एक जबरदस्त जॉब ऑफर किया है। कैंडी लवर्स अपनी जॉब छोड़कर कैंडी फनहाउस द्वारा ऑफर की गई नौकरी के मौके को हाथ से नहीं गंवाने देंगे।

जानकारी के अनुसार कनाडाई कंपनी $100,000 कैनेडियन डॉलर (61.14 लाख रुपये) के वेतन के लिए एक मुख्य कैंडी अधिकारी को नियुक्त करना चाह रही है। साथ ही साथ यह काम आपको अपने घर पर बैठे-बैठे करना है यानी वर्क फ्रॉम होम की सुविधा। क्यों पढ़कर सोच में पड़ गए ना।

Advertisement

सही सुना आपने घर बैठे-बैठे आपको कैंडी को टेस्ट करना है और इसके बदले आपको मिलेंगे लाखों रुपये। जुलाई में लिंक्डइन पर पोस्ट किए गए पोस्ट में कहा गया है कि ड्यूटी में प्रमुख कैंडी बोर्ड की मीटिंग्स, प्रमुख स्वाद परीक्षक और ऐसे ही मजेदार काम शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, माता-पिता की अनुमति के साथ पांच वर्ष से अधिक उम्र के आवेदकों के लिए यह जगह ओपन है।

एक दिन में टेस्ट करने होंगे इतने कैंडी

भारी प्रतिक्रिया के बारे में बोलते हुए मुख्य कार्यकारी अधिकारी जमील हेजाजी ने कहा कि उन्हें कुछ अप्रत्याशित आवेदन भी मिले। उन्होंने कहा कि वेतन और कामों को शेयर करने वाले कई इच्छुक परिवारों के वीडियो भी आवेदन में मिले। जमील ने मीडिया से कहा कि सोशल मीडिया का दावा है कि एक मुख्य कैंडी अधिकारी को प्रति माह कैंडी के 3,500 टुकड़े खाने की आवश्यकता होगी, जोकि गलत है। एक दिन में सिर्फ 117 हिस्सों को टेस्ट करना होगा। यह बहुत सारे हैं।

Advertisement

क्या आपने यह पढ़ा…. Kangana statement on lal singh chaddha movie: आमिर खान की ‘लाल सिंह चड्ढा’ पर कंगना रनौत ने किया सनसनीखेज दावा, कही यह बात

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Advertisement
Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.