Corona Vaccine

Strict stance on non-vaccination: इस देश में वैक्सीन न लगवाने वालों के खिलाफ सरकार का सख्त रवैया, घर से बाहर निकलते ही होंगे गिरफ्तार

Strict stance on non-vaccination: वैक्सीन न लगवाने वाले यदि आदेश का उल्लंघन कर घरों से बाहर निकलते हैं तो उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगाः फिलीपींस राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतर्ते

नई दिल्ली, 08 जनवरीः Strict stance on non-vaccination: पूरे विश्व में कोरोना की तीसरी लहर ने कोहराम मचा रखा रहा हैं। इससे बचने के लिए लोगों को वैक्सीन लगवाने की सलाह दी जा रही हैं। लेकिन कुछ लोग वैक्सीन न लगवाकर बड़ी लापरवाही कर रहे हैं। इस बीच कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतर्ते ने वैक्सीन न लगवाने वालों के खिलाफ बेहद सख्त रूख (Strict stance on non-vaccination) अपनाया हैं।

फिलीपींस के राष्ट्रपति ने घोषणा की है कि वैक्सीन न लगवाने वाले यदि आदेश का उल्लंघन कर घरों से बाहर निकलते हैं तो उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा। राष्ट्र के नाम संबोधन में दुतर्ते ने समुदाय के नेताओं से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया कि अनवैक्सीनेटेड लोग अपने घरों में ही बंद रहें। फिलीपींस में भी कोरोना के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। इसलिए राष्ट्रपति द्वारा ऐसा कदम उठाया गया हैं।

क्या आपने यह पढ़ा….. it’s raining in the cold: ठंड में बारिश हो रही, ये कैसी तबाही हो रही

Advertisement

इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार फिलीपींस सरकार ने मंगलवार को राजधानी मनीला और पड़ोसी इलाकों में लॉकडाउन लगा दिया गया हैं। इसके अलावा अब तक वैक्सीन नहीं लगवाने वालों को घर में ही रहने के आदेश दिए गए हैं। नए प्रतिबंधों के तहत फिजिकल क्लास और स्पोर्ट्स कार्यक्रमों को सस्पेंड कर दिया गया हैं। जबकि पार्क, चर्च और रेस्तरां को कम क्षमता के साथ काम करने को कहा गया हैं।

राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतर्ते ने कहा कि ये एक राष्ट्रीय आपातकाल है। मैं हर नागरिक की सुरक्षा करने के लिए जिम्मेदार हूं। ऐसे में मैंने फैसला किया है कि हम उन लोगों पर लगाए लगाएंगे, जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई हैं। उन्होंने आगे कहा कि वैक्सीन नहीं लगवाने वाले लोगों की तलाश की जाए और उनसे अनुरोध किया जाए कि वे बाहर न निकलें। अगर लोग ऐसा करने से मना करते हैं और घर के बाहर घूमते हैं तो उन्हें तुरंत हिरासत में ले लिया जाएगा।

Whatsapp Join Banner Eng
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Advertisement
Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.