Pitru shradh

Pitru paksha 2022: आज से शुरू हुए पितृ पक्ष, आइए जानें कितने प्रकार के होते हैं श्राद्ध

Pitru paksha 2022: इस बार पितृपक्ष की समाप्ति अश्विन माह की अमावस्या (25 सितंबर) को होगी

धर्म डेस्क, 10 सितंबरः Pitru paksha 2022: भारत में आज से पितृ पक्ष शुरू हो चुके हैं। इस बार पितृ पक्ष 16 दिन के हैैं। भाद्रपद महीने के पूर्णिमा तिथि से लेकर अश्विन माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि तक पितृपक्ष चलते हैं। विस्तार सेे बताएं तो पितृपक्ष की शुरुआत अश्विन माह की पूर्णिमा तिथि यानी आज 10 सितंबर से हो रही हैं। जबकि इसकी समाप्ति अश्विन माह की अमावस्या यानी 25 सितंबर को होगी।

पितृपक्ष का हिंदू धर्म में विशेष महत्व होता है। पितृपक्ष में पूर्वजों को श्रद्धापूर्वक याद करके उनका श्राद्ध कर्म किया जाता है। श्राद्ध न केवल पितरों की मुक्ति के लिए किया जाता है, बल्कि उनके प्रति अपना सम्मान प्रकट करने के लिए भी किया जाता है।

मान्यता है कि पितृपक्ष में पितरों का श्राद्ध करने से उनकी कृपा प्राप्त होती है और हर प्रकार की बाधाओं से मुक्ति मिलती है। ऐसे में आइए जानें श्राद्ध के प्रकार के बारे में….. 

Advertisement

पितृ पक्ष का तारीख और समय

कुतुप मुहूर्त: 10 सितंबर, शनिवार, दोपहर 11.59-दोपहर 12.49 बजे तक 
रौहिण मुहूर्त: 10 सितंबर, शनिवार, दोपहर 12.49-दोपहर 01.38 बजे तक 
अपराह्न काल: 10 सितंबर, शनिवार, दोपहर 01:38-सायं 04:08 तक 

श्राद्ध के प्रकार

Advertisement

मत्सय पुराण के अनुसार श्राद्ध वैसे तो 12 प्रकार के होते हैं लेकिन इसके तीन मुख्य प्रकार बताए गए हैं- नित्य, नैमित्तिक और काम्य। 

नित्य श्राद्ध: नित्य श्राद्ध वे हैं जो अर्घ्य तथा आह्वान के बिना किए जाते हैं। यह श्राद्ध एक निश्चित अवसर पर किए जाते हैं। यह श्राद्ध मूल रूप से अष्टक और अमावस्या के दिन किया जाता है। 

नैमित्तिक श्राद्ध: नैमित्तिक श्राद्ध मुख्य रूप से देवताओं के लिए किया जाने वाला श्राद्ध है। यह श्राद्ध किसी ऐसे अवसर पर किया जाता है जो अनिश्चित होता है। यदि श्राद्ध पक्ष के दौरान संतान जन्म होता है तो ऐसे समय में  नैमित्तिक श्राद्ध किया जाता है। 

Advertisement

काम्य श्राद्ध: यदि आप कोई विशेष फल प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए आप काम्य श्राद्ध कर सकते हैं। कई लोग  स्वर्ग की कामना, मोक्ष की प्राप्ति या संतान की कामना के लिए काम्य श्राद्ध करते हैं। 

क्या आपने यह पढ़ा…. UP first choice of foreign investors: विदेशी निवेशकों की पहली पसंद बना उत्तर प्रदेश, जानिए पूरी डिटेल…

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Advertisement
Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.