RPF ticket cheking 600x337 1

Strict action against unauthorized railway ticket brokers: रेल सुरक्षा बल द्वारा अनधिकृत रेलवे टिकट दलालों पर की गई कड़ी कार्रवाई

Strict action against unauthorized railway ticket brokers: 680 से अधिक प्रकरणों में लगभग 2.15 करोड़ मूल्य के टिकट जब्त

मुंबई, 14 जनवरी: Strict action against unauthorized railway ticket brokers: पश्चिम रेलवे द्वारा यात्रियों को लुभाने और उनसे अत्यधिक अवैध कमीशन वसूलने वाले दलालों के खिलाफ निरंतर विशेष अभियान और छापेमारी की कार्यवाही की जाती है। ऐसे दलालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए पश्चिम रेलवे के रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) द्वारा सभी छह मंडलों में नियमित रूप से विशेष अभियान चलाए जा रहे हैं। इसके परिणामस्वरूप लगभग 2.15 करोड़ रुपये मूल्य के ई-टिकटों तथा यात्रा-सह-आरक्षण टिकटों को जब्त किया गया।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पश्चिम रेलवे के आरपीएफ ने दलालों के खिलाफ विशेष अभियान चलाने के लिए आरपीएफ अपराध शाखा, साइबर सेल और डिवीजनों की डिटेक्टिव जासूस विंग से समर्पित कर्मचारियों की विशेष टीमों का गठन किया।

यह देखा गया कि दलाल कई फर्जी आई डी का उपयोग करके टिकट बुक कर रहे थे, जिनमें कुछ अधिकृत आईआरसीटीसी एजेंट भी शामिल थे, जिन्होंने टिकट जारी करने के लिए फर्जी आईडी और अवैध सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जिस के द्वारा यात्रियों से अतिरिक्त पैसे वसूले गए। 2021 में पश्चिम रेलवे के रेल सुरक्षा बल ने दलाली के 684 मामलों में 734 लोगों को गिरफ्तार किया और कुल 15,263 टिकटों को जब्त किया जिनका मूल्य करीब रु. 2.15 करोड़ था।

Advertisement

ठाकुर ने यह भी बताया कि दलालों की गिरफ्तारी और अभियोजन के लिए इस तरह के नियमित अभियानों के अलावा आरपीएफ, पश्चिम रेलवे ने अवैध दलालों से टिकट खरीदने से लोगों को हतोत्साहित करने एवं उन्हें सावधान करने के लिए कई जागरूकता अभियान भी चलाए हैं। इन अभियानों का उद्देश्य यात्रियों को रेलवे अधिनियम की धारा 143 के कानूनी प्रावधानों और अनाधिकृत दलालों से टिकट/ई-टिकट खरीदने के परिणामों के बारे में शिक्षित करना भी है।

यह भी पढ़ें:-Monthly Season Tickets in Trains: पश्चिम रेलवे 118 ट्रेनों में मासिक सीजन टिकट जारी करेगी

Whatsapp Join Banner Eng
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Advertisement
Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.