Uddhav thackeray

Uddhav thackeray speech: इस्तीफा देने को तैयार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, कही यह बात

Uddhav thackeray speech: जो विधायक चाहते हैं कि मैं इस्तीफा दे दूं वे सामने आए, मैं इस्तीफा दे दूंगा: उद्धव ठाकरे

मुंबई, 22 जूनः Uddhav thackeray speech: महाराष्ट्र में शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे की बगावत के बाद से सरकार संकट में आ गई हैं। इस बीच मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे फेसबुक लाइव द्वारा राज्य के लोगों से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि जो विधायक चाहते हैं कि मैं इस्तीफा दे दूं वे सामने आए, मैं इस्तीफा दे दूंगा। किंतु इसके लिए उन्हें बाहर जाने की आवश्यकता नहीं। वे मेरे सामने आए। कोई भी शिवसैनिक अगर मुख्यमंत्री बनेगा तो मुझे खुशी होगी। लेकिन मेरे साथ कोई गद्दारी न करें।

Uddhav thackeray speech: उन्होंने कहा कि अगर आप शिवसेना बोलोगे तो शिवसेना और हिंदुत्व आपस में मिले हुए हैं। शिवसेना हिंदुत्व और हिंदुत्व शिवसेना से अलग नहीं हो सकते। हिंदुत्व हमारी सांस है और यह बात बाबासाहब ने कही थी। कुछ लोग कह रहे हैं कि यह बालासाहेब की शिवसेना नहीं हैं। मैंने ऐसा क्या किया, जो यह सवाल उठ रहे हैं। 2012 में बालासाहेब का निधन हुआ। 2014 में हम अकेले चुनाव लड़े। तब भी हमे जो चुनाव ल़ड़ा था, उस समय 63 विधायक विजयी हुए थे।

उद्धव ठाकरे ने कहा कि जो विधायक गायब हैं या जिन्हें गायब किया गया है वे आएं और मेरा इस्तीफा लेकर जाएं। अगर राज्यपाल बोलेंगे तो मैं वहां भी जाने को तैयार हूं। कोई मजबूरी नहीं हैं। कोई लाचारी नहीं हैं। मैं चुनौतियों का सामना करने को तैयार हूं। मुख्यमंत्री पद के लिए जो मैं बोल रहा हूं, वह शिवसैनिकों के लिए भी बोल रहा हूं। जिन लोगों को लग रहा है कि मैं शिवसेना प्रमुख के लायक नहीं हूं, तो प्रमुख पद से भी इस्तीफा दे दूंगा। मैं दोनों पद छोड़़ने को तैयार हूं।

Advertisement

क्या आपने यह पढ़ा…. 105 years old rambai won gold medal: 105 साल की उम्र में रामबाई ने लगाई सुनहरी दौड़, गोल्ड मेडल जीतकर रचा इतिहास, जानें…

उन्होंने कहा कि शिवसेना का कोई और नेता मुख्यमंत्री बनता है तो वह भी अच्छा लगेगा। आप मुझे वहां से फोन करिए और बोलिए कि आप मुझे नहीं चाहिए। मैं इस क्षण को मुख्यमंत्री पद छोड़ने को तैयार हूं। पद आते हैं, जाते रहते हैं। जीवनभर की कमाई होती है, जो आप कुर्सी पर रहकर करते हैं। जनता का साथ मिला है, वह ही असली कमाई हैं।

उन्होंने आगे कहा कि अगर मैं अपने ही लोगों को मुख्यमंत्री के तौर पर नहीं चाहिए, तो मैं क्या करूं। मुझे नहीं पता कि वे लोग मुझे अपना मानते हैं कि नहीं। उन्हें मेरे सामने आकर कहना चाहिए था कि आप मुख्यमंत्री पद नहीं संभाल सकते। आपको मुख्यमंत्री पद छोड़ना चाहिए। एक भी व्यक्ति सामने आकर कहता है कि मुख्यमंत्री पद से हट जाओ तो मैं हट जाऊंगा। मैं शिवसेना प्रमुख का बेटा हूं, किसी भी तरह का मोह मुझे रोक नहीं सकता। मेरा इस्तीफा तैयार हैं।

Advertisement

जानें महाराष्ट्र का सियासी गणित

महाराष्ट्र विधानसभा में सदस्यों की संख्या 287 है। बहुमत के लिए 144 सदस्यों का समर्थन आवश्यक हैं। महाविकास अघाड़ी सरकार को 169 विधायकों को समर्थन हासिल हैं। उधर बीजेपी के पास 113 सदस्य हैं। अगर 30 विधायकों के साथ एकनाथ शिंदे भाजपा के साथ जाते हैं तो उद्धव सरकार अल्पमत में आ सकती है।

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Advertisement
Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.