PM Modi 2 1

PM Modi inaugurated new vanijya bhawan: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया नए वाणिज्य भवन का शुभारंभ, कहा…

PM Modi inaugurated new vanijya bhawan: इन दोनों परियोजनाओं का लक्ष्य सरकारी कामों में तेजी लाने का हैं: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली, 23 जूनः PM Modi inaugurated new vanijya bhawan: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के नए परिसर ‘वाणिज्य भवन’ और NIRYAT पोर्टल का उद्घाटन कर दिया हैं। मौके पर केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल भी उपस्थित रहे। पोर्टल का लोकार्पण करने के बाद प्रधानमंत्री ने संबोधन भी किया। इस दौरान पीएम ने कहा कि इन दोनों परियोजनाओं का लक्ष्य सरकारी कामों में तेजी लाने का हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार के प्रोजेक्ट्स बरसों तक लटके नहीं, समय पर पूरे हों, सरकार की योजनाएं अपने लक्ष्यों तक पहुंचे, तभी देश के टैक्सपेयर का सम्मान हैं। अब तो पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान के रूप में हमारे पास एक आधुनिक प्लेटफॉर्म भी हैं। उन्होंने कहा कि वाणिज्य भवन इस कालखंड में कॉमर्स के क्षेत्र में हमारी उपलब्धियों की भी निशानी है।

उन्होंने कहा कि मुझे याद है, शिलान्यास के समय मैंने इनोवेशन और ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में सुधार की आवश्यकता पर बल दिया था। आज हम ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में 46वें पायदान पर है और लगातार सुधार कर रहे हैं। ये दोनों व्यापार एवं वाणिज्य से जुड़ी शासन-विधि में साकारत्मक बदलाव और आत्मनिर्भर भारत की हमारी आकांक्षा को बतलाती हैं।

Advertisement

क्या आपने यह पढ़ा… Vasundhara raje in mount abu: राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे दो दिवसीय दौरे पर माउंट आबू में

पीएम ने कहा कि वाणिज्य भवन के शिलान्यास के दिन हमने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में सुधार की जरूरतों पर चर्चा की थी। आज जब इस भवन का लोकार्पण हो रहा है तब तक 32 हजार से अधिक अनावश्यक कंप्लायंसिस को हटाया जा चुका हैं। उन्होंने कहा कि पिछले साल देश ने तय किया था कि हर चुनौती के बावजूद 400 बिलियन डॉलर यानि 30 लाख करोड़ रुपए के मर्चेंडाइज एक्सपोर्ट का पड़ाव पार करना हैं। हमने इसको भी पार करते हुए 418 बिलियन डॉलर यानि 31 करोड़ रुपये के एक्सपोर्ट का नया रिकॉर्ड बनाया हैं।

पीएम ने आगे कहा कि आज सरकार का हर मंत्रालय, हर विभाग, ‘Whole of government’ अप्रोच के साथ एक्सपोर्ट बढ़ाने को प्राथमिकता दे रहा हैं। MSME मंत्रालय हो या फिर विदेश मंत्रालय, कृषि हो या कॉमर्स, सभी एक साझा लक्ष्य के लिए, साझा प्रयास कर रहे हैं।

Advertisement
Hindi banner 02
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.