Renu tiwari dhup

Sunlight: आओ आज मुट्ठी में कैद कर लू ये धूप: रेणु तिवारी “इति”

“धूप”(Sunlight)

आओ आज मुट्ठी में कैद कर लू ये धूप
मन की सीलन से भरी दीवारों पे,फेक दू ये धूप
ठंडी निराश सी उम्मीदों पर,हौसले से भरी हथेली सी सेक दू ये धूप
बेमतलब सी उलझनों की फफूंदी पर सटीक विचारों सी फैला दू ये धूप
दिल की नमी को,आसुओं की चुभन को,हसी की गरमाहट सी दे दू ये धूप
गमों की बारिश से गीली मेरे आंगन की मिट्टी को खुशियों से सुखा दू ये धूप

क्या आपने यह पढ़ा…Career devlopment workshop: वसंत महिला महाविद्यालय में आठ दिवसीय रोजगार विकास कार्यशाला शुरू

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Advertisement
Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.