Kavi sammelan

Mahila kavya manch: महिला काव्य मंच द्वारा पूर्वी दिल्ली में कविगोष्ठी सोल्लास संपन्न

Mahila kavya manch: संचालिका प्राची कौशल ने सभी को सुंदर शब्दों से आमंत्रित किया

नई दिल्ली, 01 सितंबरः Mahila kavya manch: महिला काव्य मंच पूर्वी दिल्ली इकाई द्वारा गोष्ठी का सफल आयोजन किया गया। पूर्वी दिल्ली इकाई की अध्यक्ष सुषमा सिंह की अध्यक्षता में दिनांक 29.8.21 शाम 4 बजे गोष्ठी का सफल आयोजन किया गया। गोष्ठी का संचालन प्राची कौशल, पूर्वी दिल्ली इकाई सचिव द्वारा बहुत सुंदर ढंग से किया गया। गोष्ठी की शुरुआत सुषमा सिंह द्वारा सरस्वती वंदना से की गई। गोष्ठी के शुरुआत में विधिवत सभी अतिथियों का स्वागत किया गया।

संचालिका प्राची कौशल ने सभी को सुंदर शब्दों से आमंत्रित किया। अगले ही दिन जन्माष्टमी का त्यौहार होने की वजह से यह गोष्ठि भक्ति के रंगों से सराबोर थी। गोष्ठी में पुष्पिंदरा भंडारी ने ‘मैंने कहा वादा’ सुना कर वातावरण को प्रेम से सराबोर कर दिया, वहीं डॉक्टर अंजू लता ने ‘अपनापन अपना कर देखो’ सुंदर कविता सुनाई। भावना भारद्वाज ने ‘आसमान में चमकता वो ध्रुव तारा’ पर बेहद उम्दा रचना का वाचन किया।

क्या आपने यह पढ़ा… Gujarat Women Police Constable: कातिलाना तेरी आंखे…आंखे भी करती है बातें…गुजरात महिला पुलिस कांस्टेबल अर्पिता चौधरी फिर विवाद में..!

Advertisement

Mahila kavya manch: अर्चना वर्मा द्वारा ‘अधरों की चुप्पी ‘कमलेश मुद्गल ने ‘परचम अपने देश का लहरा रही है बेटियां’ सुनाकर नारीशक्ति को सम्बोधित किया। मंजू शर्मा ने ‘तुम कहाँ हो शायद अब कहीं नही ‘जैसी बेहद सुंदर रचना का वाचन किया। मधु वशिष्ठ द्वारा ‘श्याम तुम फिर से आओ’ और सुनीता पुनिया जी की आज ‘कान्हा जन्म लियो धरती पर है आयो री ‘पंक्तियों ने माहौल को भक्तिमय कर दिया। अंत में संचालिका ने ‘कितनी बारिश है बहुत’ सुंदर गीत सुनाया।

Mahila kavya manch

View Post

इसके बाद सुषमा सिंह, अध्यक्ष द्वारा गोष्ठी का समापन किया गया, उन्होंने सभी की कविताओं की प्रशंसा हेतु कुछ शब्द कहे और अपनी कविता, ‘काश कुछ दुआएं मेरी काम आ जाएं’ सुनाकर सभी का धन्यवाद करते हुए गोष्ठी का समापन किया। इस कविगोष्ठी से वातावरण बहुत खुशगवार हो गया था। बड़ी तादाद में लोगों ने कविता श्रवण कर आनंद उठाया।

Advertisement

देश-दुनिया की खबरें अपने मोबाइल में पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Advertisement
Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.