Ambaji Temple edited

Ambaji mata mandir: इसी मंदिर में गिरा था माँ सती का ह्रदय, जानिए इस प्रसिद्ध मंदिर के बारे में

Ambaji mata mandir: अगर आप धार्मिक यात्रा करना चाहते हैं और मां के किसी प्रसिद्ध मंदिर में दर्शन करने की इच्छा है, तो गुजरात के बनासकांठा जिले में स्थित अंबाजी माता मंदिर जा सकते हैं। यह मंदिर देश के 51 शक्तिपीठों में से एक है।

अहमदाबाद, 28 जुलाई: Ambaji mata mandir: गुजरात के बनासकांठा जिले में स्थित अंबाजी माता का मंदिर देश के 51 शक्तिपीठों में से एक है। सबसे खास बात है कि इस मंदिर के गर्भगृह में कोई प्रतिमा नहीं है. इस जगह के बारे में कहा जाता है कि यहां भगवान श्री कृष्ण का मुंडन संस्कार सम्पन्न हुआ था।

जिस स्थान पर यह शक्तिपीठ स्थापित है वहां मां सती का हृदय गिरा था. जिस वजह से इसे पवित्र शक्तिपीठों में गिना जाता है। इस मंदिर का निर्माण वल्लभी शासक सूर्यवंश सम्राट अरुण सेन ने चौथी शताब्दी में कराया था। इस मंदिर के गर्भगृह में एक गुफा है जहाँ स्वर्ण निर्मित श्री यंत्र स्थापित किया गया है। इसी श्री यंत्र की यहां पूजा होती है। सबसे खास बात है कि इस मंदिर में स्थापित श्री यंत्र को कोई भी नग्न आंखों से नहीं देख सकता है। यह मंदिर 103 फुट ऊंचा है और इसके शिखर पर स्वर्ण कलश स्थापित है। जिसका वजन 3 टन है। मां के इस मंदिर तक पहुंचने के लिए 999 सीढ़ियां चढ़नी होती हैं। 

यहां का नजदीकी हवाई अड्डा अहमदाबाद का सरदार वल्लभ भाई पटेल इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। जहां से अंबाजी मंदिर करीब 186 किलोमीटर दूर है। यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन अबू रोड स्टेशन है जहां से मंदिर की दूरी 20 किमी है। देश के किसी भी कोने से सड़क मार्ग के जरिए इस मंदिर तक पहुंचा जा सकता है। यह मंदिर पालनपुर से लगभग 65 किलोमीटर और माउंट आबू से 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

Advertisement

यह भी पढ़ें:-Saturn and mars: शनि और मंगल को नहीं पसंद हैं ये कार्य, भूल से भी ना करें

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.