Shaktikanta Das

Signs of hike in repo rate: आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने दिए रेपो रेट में बढ़ोत्तरी के संकेत, कही यह बात

Signs of hike in repo rate: महंगाई अभी सबसे बड़ी चिंता है और इस पर काबू पाने के लिए रेपो रेट में वृद्धि करना आवश्यक हैं: गवर्नर शक्तिकांत दास

नई दिल्ली, 23 जूनः Signs of hike in repo rate: एक बार फिर से रेपो रेट में वृद्धि हो सकती हैं, यह संकेत रिजर्व बैंक इंडिया ने दिये हैं। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा है कि महंगाई अभी सबसे बड़ी चिंता है और इस पर काबू पाने के लिए रेपो रेट में वृद्धि करना आवश्यक हैं। उन्होंने साफ कहा है कि ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी का यही सबसे अच्छा समय हैं।

जून के पहले सप्ताह में आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की हुई बैठक के मुख्य अंश जारी करते हुए रिजर्व बैंक ने कहा कि महंगाई हमारे दायरे से बाहर जा रही हैं। इसे वापस नीचे लाने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी के अलावा कोई अन्य रास्ता नहीं था। आरबीआई की ओर से जारी एमपीसी मिनट्स में साफ कहा गया कि ब्याज दरें बढ़ाने का यही सबसे सही समय हैं।

क्या आपने यह पढ़ा…. School admission offer: इस राज्य में मिल रहा शानदार ऑफर; सरकारी स्कूल में कराएं बच्चों का एडिमशन, पाएं 5,000 रुपये

Advertisement

महंगाई पर काबू पाने के साथ अर्थव्यवस्था को गति देने की दोहरी चुनौती भी हैं। लिहाजा गवर्नर दास का जोर बाजार से तरलता घटाने और ब्याज दरों को ऊपर ले जाने पर रहा। उल्लेखनीय है कि महंगाई से पार पाने के लिए रिजर्व बैंक कर्ज को महंगा कर रहा हैं। यही कारण रहा कि 8 जून को एमपीसी बैठक के नतीजों में रेपो रेट में 0.50 प्रतिशत की वृद्धि लागू की गई।

इससे एक महीने पहले ही गवर्नर दास ने अचानक प्रेस कांफ्रेंस कर रेपो रेट में 0.40 प्रतिशत बढ़ोत्तरी की जानकारी दी थी। यानी महज एक महीने के भीतर ही कर्ज की ब्याज दरें 0.90 प्रतिशत बढ़ गई। बता दें कि रिजर्व बैंक पर महंगाई को लेकर किस कदर दबाव हैं, इसका अंदाजा हालिया एमपीसी बैठक के फैसलों से लगाया जा सकता हैं। आरबीआई ने चालू वित्तवर्ष के लिए खुदरा महंगाई के अनुमान करो 2.20 प्रतिशत बढ़ाकर 6.7 प्रतिशत कर दिया हैं।

Hindi banner 02
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Advertisement
Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.