Anurag thakur 1

Khelo india scheme: खेलो इंडिया योजना के अंतर्गत 62 खेल बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को मंजूरी: अनुराग सिंह ठाकुर

Khelo india scheme: खेलो इंडिया योजना के अस्तित्वी में आने के बाद 2400 करोड़ रुपये से अधिक आवंटित

नई दिल्ली, 07 दिसंबरः Khelo india scheme: पूर्वोत्‍तर क्षेत्र और भागलपुर सहित देश में खेल भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए युवा कार्य और खेल मंत्रालय खेलों को व्यापक आधार प्रदान करने और खेलों में उत्कृष्टता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से अनेक योजनाओं को कार्यान्वित करता है। अब तक 28 राज्‍यों/ संघ शासित प्रदेशों के 359 जिलों में 453 खेलो इंडिया केन्‍द्र अधिसूचित किए गए हैं।

Khelo india scheme: योजना के अंतर्गत पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में 423.01 करोड़ रुपये की विभिन्न 62 खेल अवसंरचना परियोजनाओं को मंजूर किया गया है। इसके अलावाखेल विज्ञान, खेल प्रौद्योगिकी, खेल प्रबंधन और खेल कोचिंग के क्षेत्र में खेल शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए इंफाल, मणिपुर में राष्ट्रीय खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है। इसके अलावा, गुवाहाटी, असम में 2009-10 से लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान (एलएनआईपीई) का एक पूर्वोत्तर क्षेत्रीय केंद्र भी कार्यशील है।

क्या आपने यह पढ़ा…. Hungary for Cargo: ‘हंगरी फॉर कार्गो’ नई ऊंचाइयों की ओर, 121 किसान रेल एवं 125 मिल्क स्पेशल ट्रेन सहित 534 समय सारणीबद्ध पार्सल ट्रेनों का परिचालन

Advertisement

मंत्रालय की खेलो इंडिया योजना के अंतर्गत, पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में 08 खेलो इंडिया राज्‍य उत्‍कृष्‍टता केन्‍द्र और 152 खेलो इंडिया केन्‍द्र अधिसूचित किए गए हैं। इसके अलावा, 20 अकादमियों को भी मान्यता प्रदान की गई है और 02 सेना बाल खेल कंपनियों को पूर्वोत्तर क्षेत्र में सहायता प्रदान की गई है। पूर्वोत्तर क्षेत्र के कुल 217 खेलो इंडिया एथलीटों की पहचान की गई है। खेलो इंडिया स्कीम के प्रारंभ से लेकर अब तक आबंटित निधियों और किए गए व्यय का ब्यौरा नीचे दिया गया है:

वर्षआवंटित धनराशिवास्‍तविक खर्च(31.10.2021को)
2016-17118.10118.10
2017-18350.00346.99
2018-19375.09342.24
2019-20578.00575.52
2020-21338.93338.93
2021-22657.71313.41

यह जानकारी युवा मामले और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज लोक सभा में एक प्रश्‍न के लिखित उत्‍तर में दी।

Whatsapp Join Banner Eng

Advertisement
Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.