Jaya sharma

तथास्तु फाउंडेशन (Tathastu Foundation) ने शुरू किया गुजरात के ग्रामीण क्षेत्र में मल्टी स्पेश्यालिटी चिकित्सा सुविधा

ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा सुविधा के अभाव के मद्देनजर तथास्तु फाउंडेशन (Tathastu Foundation) ने मल्टी स्पेश्यालिटी अस्पताल शुरू किया है

अहमदाबाद, 05 अप्रैलः Tathastu Foundation: गुजरात के आणंद जिला की बोरसद तहसील का चिंखलोद गाँव जहाँ उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग आस-पास के ईंट भट्टों में काम करते हैं। यह सच है कि ये आलीशान ईमारतों के लिए ईंट का निर्माण तो करते है, लेकिन इन्हें रूखी-सूखी रोटी के बाद स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पाती।

ADVT Dental Titanium

इसी कमी को पूरा करने का भरसक प्रयास कर रहा है तथास्तु फाउन्डेशन। इस संस्थान की प्रबंध निदेशक जया शर्मा ने साक्षात्कातर के दौरान बताया कि यूं तो उनका यह संस्थान आम लोगों तक न्यायिक सुविधा मुहैया करवाने का काम करता है, किंतु यहाँ बिखरी हुई जिंदगी को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करवाने पर अपना ध्यान आकर्षित किया है। यहाँ के ग्रामीण इलाकों में चिकित्सा सुविधा के अभाव के मद्देनजर तथास्तु फाउन्डेशन ने मल्टी स्पेश्यालिटी अस्पताल शुरू किया है।

यहाँ चिंखलोड गाँव में मल्टी स्पेश्यालिटी अस्पताल शुरू करनेवाली तथास्तु फाउन्डेशन की प्रबंध निदेशक ने बताया कि यहाँ ग्रामीण इलाके में तकरीबन 20 गाँवों में कोई अस्पताल नहीं है। लोग इस सुविधा के लिए दर-दर भटकते हैं। इसलिए यहाँ यह अस्पताल शुरू किया गया है।

जया शर्मा ने बताया कि उनका यह काम धनोपार्जन के लिए नहीं अपितु सेवा के लिए है। यहाँ इस अस्पताल में शहर से दूर ग्रामीण इलाके में 24 घंटे आपातकालीन चिकित्सा सुविधा मुहैया करवा रहे हैं। इस अस्पताल में आँख, कान, गला, गायनेक और डेन्टल चिकित्सा सुविधा उपलब्ध है। तीन ऑपरेशन थियेटर भी हैं।

Tathastu Foundation

यहाँ प्रशूति सुविधा के साथ ही बच्चों के स्वास्थ्य पर विशेष बल दिया जाता है। सुबह नौ से एक बजे तथा सायं तीन से छह बजे तक ओपीडी चालू रहती है। जिसमें विविध प्रकार के मरीजों का इलाज किया जाता है।

एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि वक्त की माँग है कि इस ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा और स्वास्थ्य की सुविधा उपलब्ध करवायी जाये। स्वास्थ्य के लिए तो हमने प्रयास शुरू किया है, शिक्षा पर भी विशेष बल की जरूरत है।

अहमदाबाद की सुख-सुविधा सम्पन्न शहरी जीवन का त्याग कर यहाँ ग्रामीण इलाके में सेवा का अलख जगानेवाली जया शर्मा ने कहा कि शहरी इलाकों में तो सुविधाओं की भरमार है। वहाँ सुविधाएं भी है उसे उपयोग करनेवाले सक्षम उपभोक्ता भी हैं। परन्तु यहाँ तो न सुविधाएं है और ना ही उसे उपयोग करनेवाले उपभोक्ता।

Whatsapp Join Banner Eng

इसलिए इन्हें तो हर बाबत में शिक्षित करना ही हम सब का सामाजिक दायित्व होना चाहिए। इन्हीं उद्देश्यों को पूरा करने के लिए तथास्तु फाउन्डेशन ने अपना काम शुरू किया है जो अविरत जारी है।

यह भी पढ़ें.. महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने दिया इस्तीफा, 100 करोड़ की वसूली का आरोप

Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.