RPF passenger help

RPF Mission Jeevan Rakshak: रेल सुरक्षा बल, मुंबई मंडल ने वर्ष 2021 में अन्य कर्मचारियों के समन्वय से 47 लोगों की जान बचाई

RPF Mission Jeevan Rakshak: रेलवे सुरक्षा बल – रेल यात्रियों के सच्चे रक्षक

मुंबई, 10 जनवरी: RPF Mission Jeevan Rakshak: रेलवे सुरक्षा बल आरपीएफ के जवान न केवल रेलवे की सम्पतियों की सुरक्षा करते हैं, बल्कि वे लोगों के जीवन की रक्षा में भी चौबीसों घंटे सतर्क रहते हैं, आरपीएफ तथा अन्य ड्यूटी रेलवे कर्मचारियों की मदद से मुंबई के सैकड़ो रेल यात्रियों का जीवन भी बचाते हैं।

 “मिशन जीवन रक्षक” (RPF Mission Jeevan Rakshak) के अनर्गल मध्य रेल के आरपीएफ कर्मियों ने अपनी जान को जोखिम में डालकर वर्ष 2021 में मुंबई उपनगरीय प्रणाली में 47 लोगों की जान बचाई है, इनमें से कुछ जीवन बचाने वाली घटनाओं के वीडियो प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बहुत लोकप्रिय भी हुए हैं और सोशल मीडिया पर वायरल भी हुए हैं।

 रेलवे सुरक्षा बल के इन जवानों को यात्रियों और रेलवे संपत्तियों के खिलाफ अपराध, हिंसा, ट्रेन की आवाजाही में बाधा, लापता बच्चों को बचाने और ट्रेनों और रेलवे परिसर में नशीले पदार्थों को जब्त करने जैसी विविध सुरक्षा चुनौतियों का सामना करना पड़ता है।  इन सबके बीच वे यात्रियों की सुरक्षा पर भी कड़ी नजर रखते हैं।

Advertisement
RPF Mission Jeevan Rakshak

 ज्यादातर मामलों में सतर्क आरपीएफ ने उन यात्रियों की जान बचाई है, जो कभी-कभी लापरवाही करते हैं और चलती ट्रेनों में चढ़ते या उतरते समय अपना संतुलन खो बैठते हैं।  इन्होने कई बार व्यक्तिगत कारणों से आत्महत्या का प्रयास करते हुए लोगों की भी जान बचाई है।  लेकिन अंत में लोगों की जान बचाने के इस कार्य के परिणामस्वरूप आरपीएफ कर्मियों के प्रति लोगों की खुशी, और कृतज्ञता शब्दों से परे होती है।

 RPF Mission Jeevan Rakshak: इस वर्ष 2021 में, मुंबई उपनगरीय/गैर-उपनगरीय नेटवर्क पर, 47 लोगों की जान बचाई गई, कल्याण स्टेशन पर 11 लोग बचाए गए, दादर में 6, ठाणे में 6, एलटीटी में 4, पनवेल में 3, कुर्ला और वडाला रोड पर क्रमशः 2-2 , तुर्भे, टिटवाला, रोहा, कसारा, डोंबिवली, घाटकोपर, भायखला, दिवा और सीएसएमटी मेन लाइन स्टेशनों पर एक-एक लोगों को बचाया गया है ।  उनमें से ज्यादातर लंबी दूरी की ट्रेनों में चढ़ने या उतरने के दौरान यात्रियों को बचाया गया है । 

Railways banner

हाल ही में दिनांक 26.12.2021 को आरपीएफ कांस्टेबल राजू पुनिया ने ठाणे स्टेशन पर अपनी ड्यूटी के दौरान एक यात्री राम प्रवेश बिहारी, निवासी आजमगढ़, यूपी को चलती ट्रेन 11055 डाउन गोदान एक्सप्रेस में चढ़ने के प्रयास में फिसलते हुए देखा।  ट्रेन के गार्ड ने भी यह देखा और तुरंत प्रेशर कम किया और ट्रेन को रोक दिया, जिससे यात्री को मौत से बचाया जा सके। 

Advertisement

एक अन्य घटना में, आरपीएफ कांस्टेबल आर.के मीणा ने दिनांक 17.12.2021 को पनवेल स्टेशन पर प्लेटफॉर्म ड्यूटी करते हुए कामोठे निवासी एक महिला यात्री को देखा, पनवेल ट्रेन संख्या 15066 पनवेल-गोरखपुर में चढ़ने की कोशिश करते समय ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच फिसल कर गिर गई, उसने कार्रवाई की  तुरंत यात्री को सुरक्षित बाहर निकाला और उसकी जान बचाई।

 रेलवे सुरक्षा बल के ये बहादुर सैनिक अपनी सतर्कता और साहस से कई यात्रियों की जान बचाकर ईश्वर के दूतों के प्रतीक बन गए हैं।

क्या आपने यह पढ़ा…RPF Mission Amanat: आरपीएफ द्वारा यात्रियों को उनके खोए हुए सामान को खोजने में मदद करने की एक अभिनव पहल

Advertisement
Copyright © 2021 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.