Supreme court

NEET PG exam: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की नीट पीजी परीक्षा टालने की मांग याचिका, इस तारीख को होगी परीक्षा

NEET PG exam: नीट पीजी की परीक्षा 21 मार्च को होगी, एआईएमएस द्वारा परीक्षा को स्थगित करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई थी

नई दिल्ली, 13 मईः NEET PG exam: सुप्रीम कोर्ट ने स्नातकोत्तर मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होने वाली राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-पीजी 2022) को स्थगित करने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी है। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस सूर्यकांत की पीठ ने शुक्रवार को सुनवाई के दौरान, 21 मई को होने वाली नीट पीजी परीक्षा 2022 को स्थगित करने की मांग को खारिज कर दिया।

पीठ ने कहा कि यह हितों के टकराव जैसा मामला है। इससे लाखों लोग प्रभावित होंगे। परीक्षा टालने से पाठ्यक्रम में देरी होगी और इससे रेजिडेंट डॉक्टरों की कमी का संकट पैदा हो सकता है। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस सूर्यकांत की पीठ ने कहा कि वह परीक्षा स्थगित करने के लिए निर्देश जारी नहीं कर सकती है, जिससे उन लाखों उम्मीदवारों को कठिनाई होगी, जिन्होंने पंजीकरण कराया है और इसके लिए तैयारी की है। नीट पीजी परीक्षा 21 मई को ही होगी।

NEET PG exam: अखिल भारतीय मेडिकल छात्र संघ (एआईएमएस) द्वारा राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा को स्थगित करने के लिए बुधवार, चार मई, 2022 को सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई थी। इसके अलावा मेडिकल छात्रों के दो अन्य संगठन FAIMA और UDFA भी लगातार नीट पीजी परीक्षा टालने की मांग को लेकर आवाज उठा रहे हैं। संगठनों की ओर से केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री तथा प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर राहत देने की मांग भी गई थी।

Advertisement

क्या आपने यह पढ़ा…… Electricity became expensive in gujarat: गुजरात में बढ़ती महंगाई के बीच लोगों को अब बिजली का झटका, पढ़ें पूरी खबर

उल्लेखनीय है कि कि याचिका में मांग की गई थी कि पिछले वर्ष की परीक्षा के आधार पर काउंसलिंग की प्रोसेस अभी तक पूरी नहीं हुई है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट परीक्षा का आयोजन टालने के आदेश राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (एनबीई) को दे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया को खत लिखकर कहा है कि वर्ष 2021 की काउंसलिंग और फिर परीक्षा में बेहद कम अंतर होने के चलते 5000 से अधिक मेडिकल इंटर्न अयोग्य हो गए हैं।

मेडिकल इंटर्न जिन्होंने कोविड वॉरियर के तौर पर ड्यूटी निभाई वे फाइनल एग्जाम में देरी और अपनी इंटर्नशिप पूरी न कर पाने के कारण नीट पीजी 2022 में शामिल नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे में नीट परीक्षा को फिलहाल टाल दिया जाए।

Advertisement
Hindi banner 02
देश की आवाज़ की तमाम खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें.

Copyright © 2022 Desh Ki Aawaz. All rights reserved.